69 करोड़ रुपये से अधिक का जीएसटी का फर्जीवाड़ा , एक शख्स गिरफ्तार

 

गुड्स एंड सर्विस टैक्स इंटेलिजेंस महानिदेशालय (डीजीजीआई) गुरुग्राम ने 69 करोड़ से अधिक की धोखाधड़ी मामले में एक शख्स को गिरफ्तार किया है

गुड्स एंड सर्विस टैक्स इंटेलिजेंस महानिदेशालय (डीजीजीआई) गुरुग्राम जोनल यूनिट (जीजेडयू), हरियाणा ने नई दिल्ली के रहने वाले सुरेन्द्र कुमार गुप्ता को बिना किसी सेवा और वस्तु की आपूर्ति के फर्जी रसीद के जरिये टैक्स क्रेडिट का लाभ उठाने के आरोप में गिरफ्तार किया है।

अब तक हुई जांच से पता चला है कि मेसर्स मिस्टिक एग्जिम प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक, मेसर्स लैंडमार्क ट्रैडर्स प्राइवेट लिमिटेड और कंट्रोलर ऑफ मेसर्स जेकेएम इम्पेक्स सुरेंद्र कुमार गुप्ता ने इन कंपनियों के फर्जी रसीद दिखाए। जबकि दिए गए पते पर इन कंपनियों का अस्तित्व था ही नहीं। सुरेन्द्र कुमार गुप्ता की संस्थाएं के नाम से फर्जी आईटीसी कई निर्यातक फर्मों के पास गईं, जिन्होंने फर्जी आईजीएसटी रिफंड के जरिए लाभ लिया।

दिल्ली, गुरुग्राम में कई स्थानों पर जांच की गई और दर्ज किए गए दस्तावेजी साक्ष्य और बयान के आधार पर यह पता लगाया गया कि सुरेंद्र कुमार गुप्ता नकली आईटीसी का लाभ उठाने के लिए इस रैकेट को संचालित करने वाले एक प्रमुख व्यक्ति हैं।

तदनुसार सुरेन्द्र कुमार गुप्ता को 05/02/2021 को गिरफ्तार किया गया और उप मजिस्ट्रेट, तिहाड़ कॉम्प्लेक्स, नई दिल्ली के समक्ष पेश किया गया, जिन्होंने न्यायिक हिरासत में भेजने का आदेश दिया। अब तक की गई जांच से पता चला है कि 600 करोड़ रुपये की वस्तुओं को लेकर लेनदेन किया गया और इसके जरिये 69 करोड़ रुपये से अधिक का जीएसटी का फर्जीवाड़ा किया गया।

टिप्पणियां