नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल ने जलपावर कारपोरेशन लिमिटेड के लिए एनएचपीसी के संकल्प योजना को मंजूरी दी

 नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (एनसीएलटी), हैदराबाद की बेंच ने अपने दिनांक 24.12.2020 के आदेश के माध्यम से चालू अवस्था (गोइंग कंसर्न) में  जलपावर कारपोरेशन लिमिटेड (जेपीसीएल) के अधिग्रहण  के लिए  एनएचपीसी की संकल्प योजना को अनुमोदित किया है और इसे अपनी वेबसाइट पर 07.01.2021 को अपलोड कर दिया है ।

जेपीसीएल सिक्किम में 120 मेगावाट की रंगित- IV जलविद्युत परियोजना का क्रियान्वयन कर रहा है ।  यह कंपनी वर्तमान में कॉर्पोरेट इन्सॉल्वेंसी रिज़ॉल्यूशन प्रोसेस ("सीआईआरपी") के अधीन है, जो माननीय एनसीएलटी के एक आदेश के माध्यम से 09 अप्रैल, 2019 को शुरू की गई थी ।

एनएचपीसी ने अपनी संकल्प योजना प्रस्तुत की थी और कमेटी ऑफ क्रेडिटर्स (सीओसी) द्वारा 24.01.2020 को सफल संकल्प आवेदक घोषित हुई थी । कमेटी ऑफ क्रेडिटर्स (सीओसी)  अनुमोदित  संकल्प  योजना  को माननीय  एनसीएलटी हैदराबाद बेंच में 28.01.2020 को रिज़ॉल्यूशन प्रोफेशनल द्वारा दायर किया  गया था ।

एनएचपीसी 165 करोड़ रुपए का अग्रिम भुगतान करेगी और इस परियोजना की लागत 943.20 करोड़ रुपए मानी गई है ।

लैंको तीस्ता हाइड्रो पावर लिमिटेड के बाद जल पावर कार्पोरेशन कारपोरेशन लिमिटेड (जेपीसीएल) दूसरी कंपनी है जिसका एनएचपीसी द्वारा एनसीएलटी प्रक्रिया के माध्यम से अधिग्रहण किया जाना है ।******
टिप्पणियां