भारतीय विदेश मंत्रालय की रंग लाई मेहनत, नाइजीरिया में लगभग एक माह पहले अपहृत चार भारतीयों को कराया गया मुक्त


अफ्रीकी देश नाइजीरिया से अपहृत भारतीय नागरिकों को मुक्त करा लिया गया है। अपहरणकर्ताओं ने बीते 25 नवंबर को नाइजीरिया के डेल्टा राज्य से चार भारतीय नागरिकों के अलावा तीन अन्य देशों के 6 लोगों का अपहरण कर लिया था। जानकारी मिलने के बाद नाइजीरिया स्थित भारतीय मिशन ने वहां के स्थानीय प्रशासन के समक्ष इस मुद्दे को पुरजोर तरीके से उठाया था। जिसके बाद वहां के सुरक्षाकर्मियों ने बड़ा ऑपरेशन चलाकर सभी नागरिकों को मुक्त कराने में सफलता प्राप्त की है।

इस संबंध में भारतीय विदेश मंत्रालय ने बताया कि अपहृत हुए सभी चार भारतीय एमवी मिलानो शिप के कर्मचारी हैं। जिन्हें बीते माह नाइजीरिया के डेल्टा राज्य के पेनिंगटन नदी के पास से अगवा कर लिया गया था। अपहरणकर्ताओं ने सभी नागरिकों को नाइजीरिया के बयेल्सा राज्य में बंधक बनाकर रखा था।

भारतीय नागरिकों के अपहरण की जानकारी मिलने के बाद नाइजीरिया स्थित भारतीय मिशन ने पूरी सक्रियता दिखाई और वहां के स्थानीय प्रशासन के समक्ष अपने नागरिकों की रिहाई का मुद्दा उठाया। जिस पर डेल्टा और बयेल्सा राज्य के सुरक्षाकर्मियों ने नागरिकों की रिहाई के लिए संयुक्त अभियान चलाया। लगभग एक माह तक चले संयुक्त अभियान के बाद सभी नागरिकों को मुक्त करा लिया गया

इस बारे में मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि ''नाइजीरिया और भारत के संबंध काफी प्रगाढ़ है। कोरोना काल में भी दोनों देशों ने एक दूसरे की हर संभव मदद की। छुड़ाए गए सभी भारतीय नागरिक स्वस्थ एवं सुरक्षित हैं। जिन्हें बहुत जल्द ही भारत लाया जाएगा। पूरी उम्मीद है कि नए साल में वह अपने परिवार के बीच होंगे।''

टिप्पणियां