एनएचपीसी द्वारा अखिल भारतीय राजभाषा सम्मेलन का आयोजन

 एनएचपीसी लिमिटेड द्वारा दिनांक 22 व 23 दिसंबर2020 को दो दिवसीय अखिल राजभाषा सम्मेलन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित किया जा रहा है। इस सम्मेलन के उद्घाटन के अवसर पर डॉ. सुमीत जैरथसचिव (राजभाषा)राजभाषा विभागगृह मंत्रालयभारत सरकार मुख्य अतिथि थे। सचिव (राजभाषा) के साथ श्री बी.एल. मीनानिदेशक (कार्यान्वयन) तथा श्री के.पी. शर्माउप निदेशक (कार्यान्वयन) राजभाषा विभागगृह मंत्रालय भी सम्मेलन में उपस्थित थे। इस अवसर पर  श्री ए.के. सिंहसीएमडी, एनएचपीसीसभी निदेशकगण तथा निगम मुख्यालय के सभी विभागाध्यक्षों के साथ-साथ सभी परियोजनाओंपावर स्टेशनों व कार्यालयों के प्रमुख भी वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से सम्मेलन से जुड़े थे। इस अवसर पर निगम में किए जा रहे राजभाषा कार्यों की संक्षिप्त प्रेजेंटेशन भी दी गई तथा इस अवसर पर सचिव (राजभाषा) ने निगम द्वारा हिंदी में तैयार की गई ‘एनएचपीसी- हरित प्रयासों से सतत जल विद्युत विकास’ पुस्तिका का विमोचन भी किया ।  

 

माननीय सचिव (राजभाषा) ने अपने संबोधन में राजभाषा हिंदी की महत्ता के संबंध में बताते हुए कहा कि राजभाषा के प्रति लगाव और अनुराग राष्ट्र प्रेम का ही एक रूप है । उन्होंने राजभाषा के सफल कार्यान्वयन के लिए 10 ‘प्र’ यानि प्रेरणाप्रोत्साहनप्रेमप्राइज़ अर्थात पुरस्कारप्रशिक्षणप्रयोगप्रचारप्रसारप्रबंधनप्रयास को विभाग की रणनीति में जोड़ते हुए राजभाषा के क्षेत्र में आगे बढ़ने का आह्वान किया। माननीय सचिव (राजभाषा) ने एनएचपीसी लिमिटेड द्वारा राजभाषा कार्यान्वयन के लिए किए जा रहे प्रयासों पर संतोष व्यक्त किया । इस अवसर पर सचिव (राजभाषा) तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने निगम मुख्यालय में स्थापित अनुभव केंद्र का भी अवलोकन किया और एनएचपीसी लिमिटेड द्वारा राष्ट्र निर्माण के किए जा रहे कार्यों के लिए निगम की सराहना की । यह राजभाषा सम्मेलन दो दिन चलेगा और इसमें राजभाषा के विभिन्न पक्षों और आयामों पर विस्तार से चर्चा की जाएगी ।

टिप्पणियां