एनएचपीसी और भारतीय सेना के बीच 'भूमिगत कैवर्न और अर्ध-भूमिगत बंकरों के निर्माण' के लिए समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर


एनएचपीसी और भारतीय सेना के बीच भारत में विभिन्न स्थानों पर टर्नकी आधार पर 'भूमिगत कैवर्न और अर्ध-भूमिगत बंकरों के निर्माण' के लिए 25 अप्रैल 2019 को एनएचपीसी  कॉर्पोरेट ऑफिस, फरीदाबाद में समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए गए। एनएचपीसी के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक श्री बलराज जोशी, निदेशक(परियोजना) श्री रतीश कुमार,  निदेशक (कार्मिक) श्री एन.के. जैन,  निदेशक (तकनीकी) श्री जनार्दन चौधरी, मुख्य सतर्कता अधिकारी श्री वेद प्रकाश, भारतीय सेना व एनएचपीसी के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ इस अवसर पर उपस्थित थे। 


समझौता ज्ञापन के अनुसार, एनएचपीसी डिजाइन और इंजीनियरिंग, सिविल निर्माण, परियोजना प्रबंधन और परियोजनाओं के निष्पादन के लिए जिम्मेदार होगा। भारतीय सेना की ओर से लेफ्टिनेंट जनरल नव के. खंडूरी, वीएसएम और एनएचपीसी की ओर से श्री चेरियन मैथ्यू,कार्यपालक निदेशक, नवीकरणीय ऊर्जा व परामर्श द्वारा समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए गए।


टिप्पणियां