एनएचपीसी की 42वीं वार्षिक सामान्य बैठक सम्पन्न


एनएचपीसी लिमिटेड द्वारा 42वीं वार्षिक सामान्य बैठक का आयोजन 27 सितंबर 2018 को फरीदाबाद में किया गया। श्री बलराज जोशी, अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक,एनएचपीसी ने बैठक में शेयरधारकों को संबोधित किया जिसमें स्वतंत्र निदेशकों सहित एनएचपीसी निदेशक मंडल के सदस्यगण तथा एनएचपीसी के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।


सभा को संबोधित करते हुए श्री बलराज जोशी, अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक ने कंपनी की सफलता में सहयोग देने के लिए सभी शेयरधारकों के प्रति आभार व्यक्त किया। श्री जोशी ने एनएचपीसी द्वारा वित्तीय वर्ष 2017-18 के दौरान प्राप्त की गई उपलब्धियों पर प्रकाश डाला। 31 मार्च 2018 को समाप्त वित्तीय वर्ष की वार्षिक रिपोर्ट  प्रस्तुत  करते हुए श्री जोशी ने कहा कि एनएचपीसी का कर पश्चात शुद्ध लाभ वित्तीय वर्ष 2017-18 के दौरान 2758.65 करोड़ रुपए हुआ है। उन्होने आगे कहा कि एनएचपीसी के निदेशक मंडल ने इस अवधि के लिए 1.40 रुपए प्रति शेयर का लाभांश देने की सिफ़ारिश की है। एनएचपीसी ने वित्तीय वर्ष 2017-18 के दौरान 22975 मिलियन यूनिट विद्युत उत्पादन किया है। श्री जोशी ने बताया कि जम्मू-काश्मीर के बांदीपोरा में स्थित किशनगंगा जलविद्युत परियोजना (3X110मेगावाट) एवं तमिलनाडू में 50 मेगावाट की सौर पीवी परियोजना को वर्ष के दौरान कमीशन करके कंपनी की संस्थापित समग्र क्षमता ने 7000 मेगावाट कीसंस्थापित क्षमता के महत्त्वपूर्ण लक्ष्य को पार कर लिया है।


श्री जोशी ने 2800 मेगावाट की संस्थापित क्षमता वाली निर्माणाधीन दो जलविद्युत परियोजनाओं पार्बती–II एवं सुबनसिरी लोअर पर प्रकाश डाला । पार्बती-IIजलविद्युत परियोजना के यूनिट-I को पहले से ही ग्रिड के साथ सिंक्रोनाइज किया जा चुका है, तथा यूनिट-II को 22 सितंबर 2018 को सिंक्रोनाइज किया गया है।कंपनी संयुक्त उद्यम कंपनियों के माध्यम से केरल के पलक्कड में 8 मेगावाट की पवन ऊर्जा परियोजना,  उत्तर प्रदेश में  32 मेगावाट क्षमता की सौर ऊर्जा परियोजना एवं चार  जलविद्युत परियोजनाओं के विकास की प्रक्रिया में  है।


टिप्पणियां